World Earth Day Programe news 22 April 2018

ब्रह्माकुमारीज् ग्वालियर: “आज विश्व पृथ्वी दिवस पर लिया धरा को पॉलिथीन मुक्त बनाने का संकल्प”

विश्व पृथ्वी दिवस के उपलक्ष्य में स्थानीय सेवाकेंद्र द्वारा धरती माँ के संरक्षण हेतु सामूहिक योगाभ्यास और जान जागरण का एक विशेष कार्यक्रम का आयोजन किया गया।जिसमें कई भाई बहनों ने अपना योगदान दिया। कार्यक्रम का शुभारंभ ईश्वरीय महावाक्य श्रवण से हुई, जिसमे भाई बहनों ने अपने जीवन में कमी कमजोरियों को त्याग करने की विधि छोड़ो तो छूटो पर विस्तार से समझा। ईश्वरीय महावाक्यों में बताया गया कि किसी भी कमजोर या बुरे संस्कार हो हमने ही धारण किया है और अब हमें ही इन्हें छोड़ने का पुरुषार्थ करना होगा। विश्व विद्यालय का परिचय देते हुए बी के डॉ गुरचरन ने कहा कि हमारी मौलिक जिम्मेवारी है कि पिता परमात्मा के दिशा निर्देशो को जीवन में धारण करते हुए अपनी धरती माँ के लिए भी कुछ समय निकालना है। उन्होंने कहा कि पिछले 82 वर्षो से स्वयं पिता परमात्मा हम सभी भाई बहनों को विश्व कल्याण के निमित्त बना कर के हमें पूर्व में ही यह जिम्मेदारी दी हुई है। सभा को संबोधित करते हुए स्थानीय सेवाकेंद्र प्रभारी बी के आदर्श ने कहा कि हमने ही अपनी धरती माँ के वातावरण को दूषित किया है अब हमें ही इसे ठीक करने के हर संभव प्रयास करने होंगे। पृथ्वी ही ऐसा गृह है जहाँ जीवन संभव है और अगर हमने अपनी धरा और इसके प्राकृतिक पदार्थों के संरक्षण के लिए कोई ठोस कदम नहीं उठाये तो निकट भविष्य में हमें बहुत ही भयानक परिस्थितियों का सामना करना पड़ सकता है। हमें आज से कुछ संकल्प लें कि –
1- बचाव ही समस्या का समाधान है इसलिए हमें पर्यावरण के बचाव के लिए हर संभव प्रयास करने चाहिए।
2- बाहरी प्रदुषण की वजह हमारे आतंरिक प्रदूषण है यानी हमारे मन बुद्धि की अस्थिरता और नकारात्मकता है। अतः इसे ठीक करने का पुरुशार्थ करना है।
3- अपने पर्यावरण के बारे में हर जानकारी एकत्रित कर उस अनुसार अपने दैनिक कार्यों को करना है।
4- प्रत्येक व्यक्ति को कम से कम एक को यह जानकारी देकर उसे भी अपने समान बनाना है।
5- बिजली के बचाव और उसके संरक्षण के प्रयास करने हैं।
6- पानी की बचत करनी है तथा जल संरक्षण के लिए उपाय करने हैं ।
7- गाड़ियों का जरुरत अनुसार कम से कम ही उपयोग करना है।
8- अपने बच्चो को भी इसके लिए प्रेरित करना है।
9- अपने आस पास का वातावरण शुद्ध , साफ़ और स्वच्छ रखने में प्रशासन का सहयोग करना है।
10- आज एक दिन ही नहीं परंतु हर एक दिन पृथ्वी दिवस के रूप में समझ हर कार्य को जागरूक होकर करना है।
तत्पश्चात संस्थान के भाई बहनों को विगत वर्ष में उनके द्वारा दिए गए आध्यात्मिक अध्ययन की परीक्षाओं उत्तीर्ण होने के आधार पर प्रशस्ति पत्र भी प्रदान किये। अतिथितियों के रूप में CA अशवनि माहेश्वरी (भारत विकास परिषद्), प्रो. पृथ्वीराज पांडे (एम.एल.बी. कॉलेज), डॉ. संतोष अजीत शर्मा, रिटा. प्रो. आर. एस. वर्मा, इंजी. बी.के गुप्ता (पी.एच. ई. ग्वालियर), पूर्व प्रिंसिपल श्रीमती भगवती नंदन सिंह रौतेला आदि उपस्थित थे।
कार्यक्रम के अंत में बी के प्रह्लाद भाई ने उपस्थित अतिथियों सहित सभी भाई बहनों का धन्यवाद ज्ञापित किया।