News

मेरा भारत स्वर्णिम भारत अभियान बस प्रदर्शनी अभियान के अंतर्गत हज़ारों युवाओं को दिया सन्देश

ग्वालियर: प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय की भगिनी संस्था राजयोग एजुकेशन एण्ड रिसर्च फाउंडेशन के युवा प्रभाग द्वारा अगस्त 2017 में गुजरात से “अखिल भारतीय प्रदर्शनी बस अभियान – मेरा भारत स्वर्णिम भारत” की शुरुवात हुई जो भारत के 26 राज्यों एवं 4 केंद्र शासित प्रदेश में चक्कर लगाते हुए लगभग 70 हजार कि.मी. की यात्रा तय कर 6221 कार्यक्रम करते हुए ग्वालियर शहर पहुंची| ग्वालियर शहर में इस प्रदर्शनी बस का 4 नवम्बर 2019 को भव्य स्वागत किया गया| इस बस अभियान के द्वारा 4 से 17 नवम्बर 2019 तक ग्वालियर के विभिन्न ब्रह्माकुमारीज सेवाकेन्द्रों के माध्यम से अनेकानेक स्कूल, कॉलेज, सामाजिक संगठन एवं गांवों में अनेकानेक कार्यक्रम किये गए| इस बस अभियान के माध्यम से शहर एवं गावों में युवाओं को स्वच्छता, नशामुक्ति, पर्यावरण संरक्षण, सकारात्मकता एवं राजयोग द्वारा आध्यात्मिक मूल्य एवं चरित्र निर्माण के लिए प्रोत्साहित किया जा रहा है| इसमें अलग-अलग राज्यों के 15 सेवाधारी भाई एवं बहनें शामिल है|
ग्वालियर लश्कर सेवाकेंद्र संचालिका आदरणीय राजयोगिनी ब्रह्माकुमारी आदर्श दीदी जी के द्वारा इस भव्य बस अभियान का कुशल संचालन किया गया साथ ही उन्ही के मार्गदर्शन में अनेकानेक कार्यक्रम ग्वालियर शहर में कार्यक्रम दि रेडीएन्ट स्कूल, जी. डी. गोयनका स्कूल, ग्वालियर ग्लोरी स्कूल, रामश्री स्कूल, प्रतीक इंस्टिट्यूट ऑफ़ इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी, इंस्टिट्यूट ऑफ़ डेन्टल एजुकेशन एण्ड एडवांस स्टडीज, वी. आई. एस. एम. ग्रुप ऑफ़ स्टडीज, के. एस. नर्सिंग कॉलेज,सिथोली रेलवे स्प्रिंग कारखाना, जी. आर. मेडिकल कॉलेज आदि संस्थानों में आयोजित किये गए|
इन कार्यक्रमों के अंतर्गत युवाओं को जीवन में नैतिक मूल्यों की उपयोगिता, स्वच्छता, नशामुक्ति, पर्यावरण संरक्षण, सकारात्मकता, तनाव प्रबंधन, समय प्रबंधन, संकल्प शक्ति के चमत्कार, सफलता की चाबी, चुनौती पूर्ण परिस्थितियों का प्रबंधन आदि विषयों पर बताया गया और अवगत कराया गया कि सशक्त युवा ही है आधार श्रेष्ठ समाज का और स्वर्णिम भारत का| तो अभी समयानुसार आवश्यकता है एक साधारण युवा से नैतिक मूल्यों से सुसज्जित सशक्त युवा के रूप में स्वयं को स्थापित करने की और जीवन में आध्यात्मिक मूल्यों के माध्यम से स्वयं को व विश्व को एक नयी दिशा देने की| साथ ही सभी को राजयोग मैडिटेशन की जीवन में उपयोगिता एवं उससे होने वाले लाभों के बारे में भी बताया कि किस प्रकार राजयोग के माध्यम से जीवन में मूल्यों का विकास होता है और आत्मिक बल जमा होता है| और अंत में सभी को राजयोग मैडिटेशन का अभ्यास भी करवाया|