News

प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय के संगम भवन पुराना हाईकोर्ट लाईन स्थित सेंटर पर 84 वी शिवजयंती पर शिव ध्वजारोहण का कार्यक्रम सम्पन्न

प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय संगम भवन पुराना हाईकोर्ट लाईन स्थित सेंटर पर 84 वी शिवजयंती पर शिव ध्वजारोहण का कार्यक्रम सम्पन्न हुआ। जिसमें मुख्य रूप से श्री अशोक बांदिल जी (पूर्व उपाध्यक्ष भाजपा ग्वालियर), श्रीमती अंकिता कैलासिया (गायक कलाकार), श्री अनूप कैलासिया (सहप्राध्यापक शासकीय महाविद्यालय शिवपुरी), बी.के. डॉ. गुरुचरण भाई,  बी.के. जीतू, बी.के. अरुण भाई सहित संस्थान से जुड़े सैकड़ो भाई एवं बहिनें उपस्थित रहे।

कार्यक्रम में बी.के. डॉ. गुरुचरण भाई ने 84 वीं शिव जयंती की सभी को शुभकामनाएं दी और  शिवरात्रि का आध्यात्मिक रहस्य बताते हुए कहा कि शिवरात्रि त्योहार परमपिता परमात्मा  शिव के अवतरण की यादगार के रूप में मनाया जाता है। परमात्मा शिव अवतरित होकर अपने ज्ञान, योग तथा पवित्रता द्वारा आत्माओं में आध्यात्मिक जागृति उत्त्पन्न करते हैं एवं अनेक आत्माओं को सतयुगी स्वर्णिम दुनिया में ले जाने लायक बनाते हैं । वे ही मनुष्य आत्माओं को सहज ज्ञान और राजयोग की शिक्षा देतें हैं तथा सभी आत्माओं को मुक्ति एवं जीवनमुक्ति का वरदान देते हैं । कहने का तात्पर्य ज्ञान सूर्य पिता परमात्मा शिव कलयुगी रूपी घोर अंधियारी रात्रि में अवतरित हो ज्ञान प्रकाश देते हैं जिसके आधार से सारे विश्व से कलयुग और तमोप्रधान के स्थान पर संसार में सतयुग और सतोगुण की स्थापना हो जाती है । अज्ञान तथा विकारों का विनाश हो जाता है ।

इस अवसर पर सभी ने अपनी एक -एक बुराई छोड़ी साथ ही कुछ प्रतिज्ञाएं भी की-

1. प्रत्येक के साथ मधुरता सम्पन्न व्यवहार करेंगे।

2. चिंता तथा व्यर्थ चिंतन से मुक्त रहेंगे।

3. समस्याओं का कारण बनने की जगह उनका निवारण ज्ञान योग की शक्ति से करेंगे|

4. व्यर्थ व नकारात्मक संकल्प व बोल को समाप्त कर अपनी वृत्तियों को भी पवित्र बनाएंगे।

इस अवसर पर श्रीमती अंकिता जी ने सुन्दर गीत के माध्यम से पिता परमात्मा शिव की वंदना की और सभी अतिथियों ने भी शिवरात्रि के पावन अवसर पर अपनी शुभकामनाएं व्यक्त की।

इसके साथ ही अचलेश्वर मंदिर पर आध्यात्मिक प्रदर्शनी भी लगाई गई जिसमें अनेकानेक भक्तों को शिव संदेश दिया गया।