World Earth Day Programe news 22 April 2018

ब्रह्माकुमारीज् ग्वालियर: “आज विश्व पृथ्वी दिवस पर लिया धरा को पॉलिथीन मुक्त बनाने का संकल्प”

विश्व पृथ्वी दिवस के उपलक्ष्य में स्थानीय सेवाकेंद्र द्वारा धरती माँ के संरक्षण हेतु सामूहिक योगाभ्यास और जान जागरण का एक विशेष कार्यक्रम का आयोजन किया गया।जिसमें कई भाई बहनों ने अपना योगदान दिया। कार्यक्रम का शुभारंभ ईश्वरीय महावाक्य श्रवण से हुई, जिसमे भाई बहनों ने अपने जीवन में कमी कमजोरियों को त्याग करने की विधि छोड़ो तो छूटो पर विस्तार से समझा। ईश्वरीय महावाक्यों में बताया गया कि किसी भी कमजोर या बुरे संस्कार हो हमने ही धारण किया है और अब हमें ही इन्हें छोड़ने का पुरुषार्थ करना होगा। विश्व विद्यालय का परिचय देते हुए बी के डॉ गुरचरन ने कहा कि हमारी मौलिक जिम्मेवारी है कि पिता परमात्मा के दिशा निर्देशो को जीवन में धारण करते हुए अपनी धरती माँ के लिए भी कुछ समय निकालना है। उन्होंने कहा कि पिछले 82 वर्षो से स्वयं पिता परमात्मा हम सभी भाई बहनों को विश्व कल्याण के निमित्त बना कर के हमें पूर्व में ही यह जिम्मेदारी दी हुई है। सभा को संबोधित करते हुए स्थानीय सेवाकेंद्र प्रभारी बी के आदर्श ने कहा कि हमने ही अपनी धरती माँ के वातावरण को दूषित किया है अब हमें ही इसे ठीक करने के हर संभव प्रयास करने होंगे। पृथ्वी ही ऐसा गृह है जहाँ जीवन संभव है और अगर हमने अपनी धरा और इसके प्राकृतिक पदार्थों के संरक्षण के लिए कोई ठोस कदम नहीं उठाये तो निकट भविष्य में हमें बहुत ही भयानक परिस्थितियों का सामना करना पड़ सकता है। हमें आज से कुछ संकल्प लें कि –
1- बचाव ही समस्या का समाधान है इसलिए हमें पर्यावरण के बचाव के लिए हर संभव प्रयास करने चाहिए।
2- बाहरी प्रदुषण की वजह हमारे आतंरिक प्रदूषण है यानी हमारे मन बुद्धि की अस्थिरता और नकारात्मकता है। अतः इसे ठीक करने का पुरुशार्थ करना है।
3- अपने पर्यावरण के बारे में हर जानकारी एकत्रित कर उस अनुसार अपने दैनिक कार्यों को करना है।
4- प्रत्येक व्यक्ति को कम से कम एक को यह जानकारी देकर उसे भी अपने समान बनाना है।
5- बिजली के बचाव और उसके संरक्षण के प्रयास करने हैं।
6- पानी की बचत करनी है तथा जल संरक्षण के लिए उपाय करने हैं ।
7- गाड़ियों का जरुरत अनुसार कम से कम ही उपयोग करना है।
8- अपने बच्चो को भी इसके लिए प्रेरित करना है।
9- अपने आस पास का वातावरण शुद्ध , साफ़ और स्वच्छ रखने में प्रशासन का सहयोग करना है।
10- आज एक दिन ही नहीं परंतु हर एक दिन पृथ्वी दिवस के रूप में समझ हर कार्य को जागरूक होकर करना है।
तत्पश्चात संस्थान के भाई बहनों को विगत वर्ष में उनके द्वारा दिए गए आध्यात्मिक अध्ययन की परीक्षाओं उत्तीर्ण होने के आधार पर प्रशस्ति पत्र भी प्रदान किये। अतिथितियों के रूप में CA अशवनि माहेश्वरी (भारत विकास परिषद्), प्रो. पृथ्वीराज पांडे (एम.एल.बी. कॉलेज), डॉ. संतोष अजीत शर्मा, रिटा. प्रो. आर. एस. वर्मा, इंजी. बी.के गुप्ता (पी.एच. ई. ग्वालियर), पूर्व प्रिंसिपल श्रीमती भगवती नंदन सिंह रौतेला आदि उपस्थित थे।
कार्यक्रम के अंत में बी के प्रह्लाद भाई ने उपस्थित अतिथियों सहित सभी भाई बहनों का धन्यवाद ज्ञापित किया।

🙏हार्दिक ईश्वरीय निमंत्रण 🙏 “World Earth Day” के उपलक्ष्य में- ब्रह्माकुमारीज् ग्वालियर द्वारा आयोजित कार्यक्रम में आप सादर आमंत्रित है। दिनांक : 22 अप्रैल 2018, दिन : रविवार समय – प्रातः 7 बजे से 9 बजे स्थान – ब्रह्माकुमारीज प्रभु उपहार भवन, मेंन रोड डॉ आहूजा के सामने माधवगंज लश्कर ग्वालियर

IMG-20180416-WA0005

ग्वालियर: प्रभु उपहार भवन का उद्घाटन एवं आदरणीया राजयोगिनी ब्रह्माकुमारी रुखमनी बहन जी (माउंट आबू ), आदरणीया राजयोगिनी ब्रह्माकुमारी अबधेश बहन जी (डायरेक्टर भोपाल जोन) के कर कमलो द्वारा दिनांक 1 अप्रैल 2018 को संपन्न हुआ

A B C D E F G H

Grand celebration of honoring women on the occasion of welcoming New Year

On occasion of welcoming new year and Chaitra Navratri, in a celebration  “Search of Inner soul’s Sound”  to honour Women Power B K Dr Gurcharan introduced the Brahmakumaris with special reference to programmes for spiritual upliftment and empowerment of Women and gave blessings for New Year, Gudi Parwa and Chaitra Navratri(Hindu festival). Women affiliated to various disciplines of the society were honoured who faced the problems of life with courage.
The function started with candle lighting.BK Adarsh addressed the gathering and asked to remember that we are children of  Supreme Soul, He is with us all the time every where. We should consider the threats as opportunities and blessings from Supreme Soul so that we can progress.  Various women from all corners of society were honoured in the function. Sarla Devi Tripathy, Usha Ludele, Manju bahen, Nisha Pandey and Shobha Ahirwar were from weaker sections and dedicated themselves for the development of their kids. Advocate Shilpa Dogra, Anupama singh, Anjali, Dr Sujata Bapat and other social workers were also honoured.

DSC03416 DSC03420 DSC03425 IMG_20180318_085330 IMG_20180318_093909_HDR IMG_20180318_094739_HDR IMG_20180318_095155_HDR IMG_20180318_095644_HDR

नवसंवत्सर और चैत्र नवरात्रि के पावन अवसर पर नारी शक्ति के सम्मान का भव्य आयोजन|
परिस्थितियों को पेपर न समझ उन्हें आगे बढ़ने का तोहफा समझें – बी के आदर्श
ग्वालियर : प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय की स्थानीय शाखा माधोगंज स्थित प्रभु उपहार भवन में आज के दिन नए साल के और चैत्र नवरात्रि के आगमन पर अंतरात्मा की आवाज एक खोज नामक एक भव्य कार्यक्रम का आयोजन किया गया | जिसमे की समाज के भिन्न भिन्न क्षेत्रों से जुडी हुई बहनों का भावपूर्ण सम्मान किया गया जिन्होंने अपनी विपरीत परिस्थितियों का सामना करते हुए अपने आप को सिद्ध किया और उनके जीवन से जुड़े हुए मूल्यों के आधार पर सभी को उमंग उत्साह दिलाने के लिए एवं स्वयं की जांच और परिवर्तन करने के लिए आज का कार्यक्रम आयोजित किया गया | कार्यक्रम में सबका स्वागत करते हुए संस्थान का परिचय देते हुए बी के डॉ गुरचरन ने कहा कि ब्रह्माकुमारीज की महिला प्रभाग द्वारा बहनों को सशक्त बनाने के अनेकानेक कार्यक्रम राष्ट्रीय और स्थानीय स्तर पर समय प्रति समय आयोजित किये जाते हैं | उन्होंने संस्थान की ओर से सभी भाई बहनों को नवसंवत्सर, गुडी पडवा, और नवरात्रि की शुभकामनाएं भी दीं | कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए सेवाकेंद्र प्रभारी राजयोगिनी बी के आदर्श बहन जी ने कहा की स्वयं को हर समय उमंग उत्साह में रखने के लिए इस ऊँची स्मृति में रहना चाहिए कि मैं पिता परमात्मा की संतान हूँ, अपने हर कर्म में पिता परमात्मा को साथ रखना चाहिए, हर समय छोटे बड़े का सम्मान करना चाहिये | उन्होंने कहा कि वर्तमान समय पिता परमात्मा स्वयं धरा पर उपस्थित होकर नारी शक्ति के द्वारा इस धरा पर सतयुगी स्वर्णिम युग की स्थापना का कार्य कर रहे हैं | जैसा कि गायन है कि जहाँ नारी शक्ति की पूजा होती है वहां देवतायें वास करते हैं अर्थात जब पिता परमात्मा शिव इस धरा पर अवतरित होकर विश्व की सभी आत्माओं को नारी शक्ति का सम्मान करना सिखाते हैं तो इस धरा पर सतयुगी स्वर्णिम दुनिया आ जाती है माना इस धरती पर देवी देवताओं का आगमन हो जाता है | उन्होंने कहा कि परिस्थितियां हमारे लिए पेपर नहीं बल्कि हमें आगे बढाने के लिए पिता परमात्मा का तोहफा हैं, जिनके आधार पर हम प्रगति की राह पर निरंतर अग्रसर हो सकते हैं | हमें अपने जीवन में हरेक का सहयोग करना चाहिए ताकि हमें भी समय पर सभी का सहयोग मिल सके |
तत्पश्चात दीप प्रज्ज्वलन कर संस्थान की ओर से विशेष रूप से आमंत्रित बहनों का सम्मान किया गया जिसमें –
1 श्रीमती सरला देवी त्रिपाठी जिन्होंने जन धन एकत्र कर के मन्दिर का निर्माण करवाया और तिन बार महिला मेराथन में सम्मानित हुईं | वर्तमान समय 92 वर्ष की आयु होते भी मंदिरों में अपनी सेवाएँ देती हैं |
2 उषा लुडेले जिन्होंने घरेलु चौका बर्तन करके स्वयं का जीवन तो चलाया ही साथ ही साथ अपने बेटे को पढा लिखा के इंजीनिअर बनाया |
3 मंजू बहन अनेक परिस्थितियों से जूझते हुए पेट्रोल पंप पर भी काम किया और अभी वीरांगना वाहन चलाते हुए अपना और अपनी एक बेटी का भरण पोषण कर रही हैं |
4 निशा पाण्डेय आपने अनेक परिस्थितियों का सामना करते भी अपने जीवन के मूल्यों को कायम रखा और वर्तमान में अनेक बच्चे जिनका कोई नहीं है उनके पालन पोषण का काम आप कर रही हैं |
5 शोभा रानी अहिरवार ने खुद की संतान ना होते हुए खुद मजदूरी कर के अपने भाई के बेटे को अपनी दिक्कतों से दूर रख के पढाया जो की आज आई टी एम से बी बी ए कर रहा है |
इन बहनों के साथ साथ अन्य समाज सेवा के कार्य में संलग्न बहनों का भी सम्मान किया गया जिसमे की- 1 एड शिल्पा डोगरा एडवोकेट
2 अनुपमा सिंह पत्रकार एवं एडवोकेट
3 अंजलि ज्ञानानी शासकीय अधिवक्ता और सामाजिक कार्यकर्ता |
4 डॉ सुजाता बापट सामाजिक कार्यकर्ता एवं गरीबों के लिए स्वास्थ्य सेवा परदान करती हैं |
5 साधना अग्निहोत्री जिला प्रशिक्षण आयुक्त भारत स्कॉट्स एंड गाइड्स |
6 श्रीमती उमा चौहान समाज सेवी, सचिव भारतीय स्वास्थ्य संघ |
7 निर्मला परिहार समाज सेवी |
8 मिताली कल्याणी समाज सेवी |
9 डॉ कीर्ति धोंडे वरिष्ठ स्त्री रोग विशेषज्ञ एवं समाज सेवी |
10 डॉ निर्मला कंचन वरिष्ठ स्त्री रोग विशेषज्ञ एवं समाज सेवी |
मंच संचालन बहन आशा सिंह द्वारा किया गया एवं कार्यक्रम के अंत में नव संवत्सर की शुभकामनाये देते हुए बी के प्रहलाद ने उपस्थित सभी भाई बहनों का संस्थान की ओर धन्यवाद किया और सभी को प्रसाद वितरित किया गया | कार्यक्रम में बी के जीतू, बी के पवन, बी के धर्मेन्द्र, बी.के. ब्रजेन्द्र सहित कई भाई बहने उपस्थित थे |

सधन्यवाद |

“अन्तर आत्मा की आवाज़ एक खोज”

🙏हार्दिक ईश्वरीय निमंत्रण🙏
चैत्र नवरात्रि महोत्सव के अन्तर्गत

कार्यक्रम – “अन्तर आत्मा की आवाज़ एक खोज”

दिनांक : 18 मार्च 2018

दिन : रविवार

समय – प्रातः 7 बजे से 9 बजे

स्थान – ब्रह्माकुमारीज प्रभु उपहार भवन, मेंन रोड डॉ आहूजा के सामने माधवगंज लश्कर ग्वालियर,

“>IMG-20180316-WA0000 IMG-20180316-WA0001

11 फ़रवरी 2018 – जीवाजी विश्वविद्यालय ग्वालियर

11 फ़रवरी ग्वालियर: जीवाजी विश्वविद्यालय में सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय, मध्य प्रदेश शासन, हरियाणा रेड क्रॉस सोसाइटी, एलिम्को  एवं जिला प्रशासन ग्वालियर के तत्वाधान में दिव्यांग हितार्थियों को नि:शुल्क सहायक उपकरण भेंट करने के लिये एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसमे भारत के राष्ट्रपति महामहिम रामनाथ कोविंद जी के द्वारा दिव्यांग लोगों को नि:शुल्क सहायता उपकरण भेंट किये गए जिसमे महामहिम राष्ट्रपति के साथ सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री श्री थावर चन्द्र गहलोत, म.प्र. राज्यपाल श्रीमति आनंदीबेन पटेल, म.प्र. के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान, हरियाणा के राज्यपाल श्री कप्तान सिंह सोलंकी तथा बिहार के मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार, केन्द्रीय मंत्री श्री नरेन्द्र सिंह तोमर, श्री जयभान सिंह पवेया (कैविनेट मंत्री म.प्र. शासन) और श्रीमति माया सिंह (कैविनेट मंत्री म.प्र. शासन) आदि उपस्थित थे | कार्यक्रम में कई शासकीय-अशासकीय संस्थायों से सेवाधारी उपस्थित थे इसी कार्यक्रम में दिव्यांग भाई बहिनों की सेवा के लिये ब्रह्माकुमारीज संसथान से भी 50 भाई बहिनों ने अपना सहयोग दिया तथा ब्रह्माकुमारी की ओर से नशामुक्ति की प्रदर्शनी भी लगायी गयी जिसमे हजारों लोगों ने संदेश प्राप्त |

“Mera Gwalior – Swach Gwalior – Drug free Gwalior” Rally orgranised by Brahma Kumaris of Gwalior for awakening the humanity

“Mera Gwalior – Swach Gwalior – Drug free Gwalior”  Rally orgranised by Brahma Kumaris of Gwalior for awakening the humanity.  Holding value based slogans and flags,  ‘Make the mind clean and the earth green’ is the positive message given to Gwalior city.

IMG_20180204_084837 IMG_20180204_085958

IMAG1380 IMAG1382

IMG_20180204_103435

IMG_20180204_103839

ग्वालियर : प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय द्वारा नगर निगम ग्वालियर के सहयोग से स्वच्छता जागरूकता शोभायात्रा (रैली) निकाली गयी, इसके पूर्व कार्यक्रम की शुरुवात ब्रह्माकुमारीज के माधोगंज स्थित स्थानीय सेवाकेंद्र पर प्रात: 07:30 से किया गया, इस कार्यक्रम में विशेष रूप से ग्वालियर महानगर के माननीय महापौर श्री विवेक नारायण शेजवलकर, स्वच्छता अभियान के ब्रांड एम्बेसडर श्री एम.एल. दौलतानी, स्थानीय पार्षद श्रीमति वंदना अरोरा, श्री अजय अरोरा, ब्रह्मकुमारीज़ संस्थान के वरिष्ठ राजयोग प्रशिक्षक बी.के. डॉ. गुरचरण, बी.के. प्रह्लाद उपस्थित रहे, कार्यक्रम का शुभारम्भ दीप प्रज्वलित करके किया गया| बी.के. प्रह्लाद द्वारा सभी अतिथियों का स्वागत किया गया| ततपश्चात् बी.के.डॉ. गुरचरण सिंह ने, ब्रह्मकुमारिज संस्थान द्वारा भारत एवं विश्वभर में चलाये जा रहे अभियानों के बारे में सभी को जानकारी दी उनोह्नें बताया कि संस्थान पिछले 80 वर्षो से मानवता की सेवा में समर्पित है अभी वर्तमान में एक बड़ा राष्ट्रीय अभियान “मेरा भारत स्वर्णिम भारत” चलाया जा रहा है जिसके अंतर्गत स्वच्छता, व्यसन मुक्ति, बेटी बचायो बेटी पढाओ,CLEAN THE MIND GREEN THE EARTH (स्वच्छ मन व धरती को हरा भरा बनाये) आदि- आदि अन्य अभियान चलाये जा रहे है उसी क्रम में आज ग्वालियर में भीस्वच्छता जागरूकता रैली का आयोजन किया गया | जिसका उद्देश्य सम्पूर्ण मानवजाती को प्रकृति, पर्यावरण एवं स्वच्छता के प्रति जागरूक करना हैं साथ ही उन्होंने बताया कि हम अपने बाह्य परिवेश को तभी स्वच्छ बना सकते है जबकि हम आतंरिक रूप से, मानसिक रूप से सत्यता, और स्वच्छता को अपनाये, जैसे हम अपने दैनिक जीवन में अपने परिवार के प्रति, अपने कार्यो के प्रति जिम्मेवारी को पूरा करने के लिया सदैव प्रयासरत हैं उसी प्रकार से हमे प्रकृति, व पर्यावरण के प्रति अपनी जिम्मेवारी को समझना होगा, उन्होंने कहा कि जैसे माता-पिता अपने बच्चो की शुरुआत से अच्छी पालना करते हैं पर कभी कभी वही बच्चे अपने माता-पिता को सहयोग नहीं करते परन्तु प्रकृति, पर्यावरण जीवनपर्यंत हमारे सहयोगी बनाकर रहती है, अत: इनके प्रति हमारी भी जिम्मेवारी है, साथ ही उन्होंने बताया कि भारत सरकार द्वारा शुरू किये गए इस स्वच्छता अभियान के लिये ब्रह्माकुमारीजसंस्थान की मुख्य प्रशासिका राजयोगिनी दादी जानकी जी, शुरुआत से ही ब्रांड एम्बेसडर है, इसके साथ ही उन्होंने कहा कि सहज राजयोग के अभ्यास से हम दूषित मन को स्वच्छ बना सकते है और अपनी बुरी आदतों को भी बदल सकते है |
इसके साथ ही पार्षद श्रीमती वंदना अजय अरोरा ने भी शोभायात्रा के प्रति अपनी शुभकामना व्यक्त करते हुए कहा कि हम सभी को एकजुट होकर ये प्रयास करना होगा तभी इस अभियान को सफल बनाया जा सकता है उन्होंने बताया कि माधोगंज में जबसे ब्रह्माकुमारीज़ संस्थान का स्थानीय मैडिटेशन केंद्र खुला हैं तभी से वहां आसपास के लोगो में स्वच्छता के प्रति जाग्रति देखने में आई है, इससे पूर्व भी प्रयास किये जाते रहे परन्तु मैडिटेशन केंद्र के खुलने के बाद इसका प्रभाव अधिक देखने में आया, इसके लिये उन्होंने संस्थान को बधाई देते हुए कहा कि अभी आप सभी का ये कार्य एक गली एरिया से आगे बढकर पूरे शहर व देश को स्वच्छता की ओर ले जाये ऐसी जाग्रति हम सभी को मिलती रहे ऐसी हमारी शुभकामना हैं |
तत्पश्चात माननीय महापौर श्री शेजवलकर ने कहा कि भारत सरकार तथा ग्वालियर नगर निगम द्वारा चलाये जा स्वच्छता अभियान में सहयोगी बनने व इस अभियान को सार्थक बनाने के लिये संस्थान द्वारा दिए गए सहयोग के प्रति अपनाओर से धन्यवाद व शुभकामनाये दीं | उन्होंने कहा कि 2 अक्टूबर 2014 को हमारे प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने पूरे देश को यह संकल्प दिलाया कि हम अपने देश को गन्दगी से मुक्त स्वच्छ भारत बनाकर ही छोड़ेंगे |उन्होंने कहा- कि हम जिस समाज में रहते है वहां एक माँ भी अपने बच्चे से कहती हैं कि पहले नहाकर आओ तब भोजन करना, रोज सुबह हम सभी मंदिरों में दर्शन के लिये जाने से पूर्व स्नान और स्वच्छता का ध्यान रखते है, मंदिरों में भी स्वच्छता व सफाई का पूरा ध्यान होता हैं, घर में भी दिन में 2 से 3 बार साफ-सफाई करते है, स्वच्छता तो हमारे संस्कारों में हैं | परन्तु पिछले कई वर्षो में हमारी आदतें बदल गयी हैं, और गंदगी उस आदत का दुष्परिणाम है | महात्मा गाँधी जी ने भी कहा कि जहाँ स्वच्छता है वही इश्वर का वास हैं | इसी बात को आगे बढाते हुए हमने अपनी आदत को सुधारने का बीड़ा उठाया है | आदतें बदलना मुश्किल तो होता है परन्तु असंभव नहीं | यह बहुत ही सांस्कृतिक निर्णय है | मै मानता हू कि हम सभी के सहयोग से ये कार्य जरूर सफल होगा ही और यह भी मानता हू कि केवल भाषणों, रेलियों से यह कार्य पूरा नहीं होगा, बल्कि व्यक्तिगततौर पर इसे हमे अपनी जिम्मेवारी समझना होगा | स्वयं नशा करते दूसरों को नशा न करने का उपदेश देंगे तो कोई नहीं मानेगा, कोई असर नहीं होगा | हमे अपनी तरफ से शुरुआत करते हुए अपनी आदते बदलनी होंगी, तभी हम लोगो को बदल पाएंगे | मेरा हर वर्ग से, हर उम्र के लोगों से यही निवेदन है कि इस अभियान के प्रति अपनी अपनी जिम्मेवारी समझे और अपना एक कदम स्वच्छता की और बढ़ाएं |
स्वच्छता अभियान में ग्वालियर के ब्रांड एम्बेसडर डॉ. दौलतानी ने कहा कि अभी कुछ समय पूर्व ही मुझे ब्रह्माकुमारीज़ के मुख्यालय जाने का अवसर मिला जहाँ पर मैंने हजारो भाई बहनो को देखा वहां के स्वच्छ निर्मल वातावरण को देखा और सफाई के प्रति अनुसाशन को देखा वहीँ मुझे यह संकल्प आया कि ग्वालियर शहर में ब्रह्माकुमारीज़ संस्थान के साथ मिलकर स्वच्छता जागरुक रैली निकालनी है क्योकिमै इनकी शिक्षाओ जीवन शैली व अनुशासन से प्रभावित हुआ यह संस्था समाज में आध्यात्मिक जागरूकता का कार्य कर रही है | क्योकि जाग्रति के विना ये अभियान पूरा नहीं हो सकता | उन्होंने कहा कि 3000 सफाई कर्मचारी मिलकर पूरे शहर को स्वच्छ नहीं बना सकते 15 लाख की आबादी बाले इस शहर में हरेक को स्वच्छता के प्रति अपनादायित्व समझना चाहिए जाग्रति का उद्देश्य ही व्यक्तिगत दायित्व का अनुभव कराना है जिसके लिये यह रैली निकाली जा रही है मेयर सर व हम सभी के प्रयास से इस अभियान में ग्वालियर नंबर वन पर है परन्तु फिर भी अभी स्वच्छता की आवश्यकता है और इसीलिये हम इस रैली के माध्यम से आप सभी से सहयोग का आह्वान करते है |
तत्पश्चात माननीय महापौर द्वारा हरी झंडी दिखाकर रैली को प्रारम्भ किया गया यह रैली स्वच्छता का संदेश देते हुए माधवगंज से रोक्सीपुल, कम्पू, नयाबजार, दाल बाजार, जयेन्द्रगंज, शिंदे की छावनी होती हुई फूलबाग गाँधी उद्द्यान पहुंची वहां पर गाँधी जी प्रतिमा पर माल्यार्पण कर लगभग 500 से भी अधिक भाई बहनों ने स्वच्छता को बनाये रखने की सपथ ली और एक कार्यक्रम करके रैली का समापन किया गया |